Follow us on Facebook

बांग्लादेश ने इतिहास रचा, भारत से पहली बार सीरीज जीती

















मीरपुर। मुस्ताफिजुर रहमान की विश्व रिकॉर्ड गेंदबाजी की मदद से बांग्लादेश ने वर्षा बाधित दूसरे वन-डे में भारत को डकवर्थ-लुईस पद्धति से 6 विकेटों से हराकर इतिहास रच दिया। बांग्लादेश ने तीन मैचों की सीरीज में 2-0 की अपराजेय बढ़त बना ली। यह उसकी भारत पर पहली श्रृंखलाई जीत है। इसी के साथ बांग्लादेश ने 2017 में इंग्लैंड में होने वाले चैंपियंस ट्रॉफी में खेलने की पात्रता भी हासिल कर ली। यह बांग्लादेश की अपनी धरती पर लगातार 10वीं जीत है।

वर्षा के कारण घटाकर 47 ओवरों के कर दिए गए मैच में भारत की पारी 45 ओवरों में 200 रनों पर सिमट गई। बांग्लादेश को 200 रनों का संशोधित लक्ष्य मिला जिसे उसने 38 ओवरों में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया।

भारत और बांग्लादेश के बीच यह चौथी सीरीज खेली गई और इससे पहले हुई तीनों सीरीज (2004-05, 2007 और 2014) में भारत विजयी रहा था। भारत ने पहली सीरीज 2-1 से जीती जबकि इसके बाद की दोनों सीरीज में उसने 2-0 के समान अंतर से जीत दर्ज की थी।

यह भी पढ़ें : मुस्ताफिजुर ने बनाया अनोखा विश्व कीर्तिमान

बांग्लादेश को पहला झटका दूसरे ही ओवर में लग सकता था, लेकिन धवल कुलकर्णी की गेंद पर तमीम इकबाल (0) के विराट कोहली द्वारा लपके गए कैच को थर्ड अंपायर ने नकार दिया। तमीम 13 रन बनाने के बाद कुलकर्णी की गेंद पर स्लिप में धवन को कैच दे बैठे। इसके बाद युवा लिटन दास के साथ सौम्या सरकार (34) आराम से रन बना रहे थे तभी वे अश्विन की एक नीची रहती गेंद पर एलबीडब्ल्यू हो गए। लिटन दास 36 रन बनाने के बाद अक्षर की गेंद पर विकेटकीपर धोनी को कैच थमा बैठे।

घरू टीम मुश्किल में पड़ सकती थी यदि अक्षर की गेंद पर सुरेश रैना ने रहीम का कैच नहीं छोड़ा होता, उस वक्त रहीम 9 रनों पर थे। रहीम 31 रन बनाने के बाद रन आउट हुए। उन्होंने शाकिब अल हसन के साथ चौथे विकेट के लिए 54 रनों की भागीदारी की। इसके बाद शाकिब (51 नाबाद, 5 चौके) ने शब्बीर रहमान (22 नाबाद) के साथ जीत की औपचारिकता पूरी की।

मुस्ताफिजुर के सामने टिक नहीं पाए भारतीय बल्लेबाज

भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, लेकिन मुस्ताफिजुर ने मैच की दूसरी गेंद पर रोहित को पाइंट पर शब्बीर के हाथों झिलवाकर भारत को पहला झटका दिया। इसके बाद कोहली और धवन पारी को संभालते नजर आए। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 74 रन जोड़े थे तभी नासिर की गेंद को बैकफुट पर खेलने के चक्कर में कोहली एलबीडब्ल्यू हो गए। कोहली अंपायर के फैसले से नाखुश नजर आए और काफी देर तक क्रीज पर खड़े रहे। उन्होंने 23 रन बनाए।

यह भी पढ़ें : बहुत कुछ कह रहा है रायुडू का 'शून्य'

इसके बाद कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने खुद को पदोन्नत कर चौथे क्रम पर बल्लेबाजी के लिए उतारा। धवन ने शाकिब की गेंद पर एक रन लेते हुए अर्द्धशतक पूरा किया। उन्होंने 54 गेंदों में 7 चौकों की मदद से फिफ्टी पूरी की। यह उनका वन-डे में 13वां अर्द्धशतक है। नासिर ने टीम को महत्वपूर्ण सफलता दिलाई जब उन्होंने धवन (53) को विकेटकीपर लिटन दास के हाथों कैच करवाया। धवन ने 60 गेंदों में 7 चौके लगाए।

भारत अभी इस सदमे से उबर भी नहीं पाया था कि रूबेल हुसैन की उपर उठती हुई गेंद को रायुडू (0) नीचे नहीं रख पाए और पाइंट पर नासिर हुसैन ने कैच लपका। भारत ने चौथा विकेट 110 रनों पर गंवा दिया। इसके बाद दो अनुभवी खिलाड़ी धोनी व रैना पारी को संभालते दिखे, लेकिन मुस्ताफिजुर ने उठती हुई गेंद पर रैना (34) को विकेटकीपर दास के हाथों झिलवाया। रैना ने धोनी के साथ पांचवें विकेट के लिए 53 रन जोड़े।

विटोरी के रिकॉर्ड को तोड़ा रहमान ने

अब बारी मुस्ताफिजुर की थी, उन्होंने ऑफ कटर पर धोनी (47) को शॉर्ट कवर्स पर सौम्या सरकार के हाथों झिलवाया। मुस्ताफिजुर ने अगली गेंद पर अ‍क्षर पटेल (0) को एलबीडब्ल्यू किया। मुस्ताफिजुर ने ऑफ कटर पर रविचंद्रन अश्विन (4) को विकेटकीपर लिटन दास के हाथों झिलवाते हुए पांचवां शिकार किया। मुस्ताफिजुर इसी के साथ शुरुआती दो वन-डे में पांच विकेट लेने वाले दुनिया के दूसरे गेंदबाज बन गए। उनसे पहले यह उपलब्धि सिर्फ जिम्बाब्वे के ब्रायन विटोरी ने 2011 में हासिल की थी। जब वर्षा के कारण खेल रोका गया तब 43.5 ओवरों में भारत ने 8 विकेट पर 196 रन बनाए थे।

इसके बाद जब खेल शुरू हुआ तब मुस्ताफिजुर ने रवींद्र जडेजा (19) को बोल्ड कर इतिहास रच दिया। यह उनका इस पारी में छठां विकेट था। इस तरह वे शुरुआती दो वन-डे में 11 विकेट लेने वाले दुनिया के पहले गेंदबाज बन गए। उन्होंने पिछले मैच में पदार्पण करते हुए 5 विकेट लिए थे। रूबेल हुसैन ने अगले ओवर में भुवनेश्वर कुमार (3) को विकेटकीपर दास के हाथों झिलवाकर भारतीय पारी का अंत किया। मुस्ताफिजुर ने 43 रनों पर 6 विकेट लिए। नासिर हुसैन और रूबेल हुसैन ने 2-2 विकेट लिए।
Share on Google Plus

About Naresh Sahu

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

Blog Archive

Ads