Follow us on Facebook

व्हाट्‌सएप में ब्लू टिक या रीड रीसीट्स बंद करना

व्हाट्‌सएप की लोकप्रियता और नये-नये फ़ीचर्स दोनों ही आगे बढ़ते जा रहे हैं। व्हाट्‌सएप में एक ऐसा फ़ीचर है जिसे आप जानते ही होंगे। यह आपको मैसिज भेजने से लेकर प्राप्त होने की पूरी जानकारी क्रमबद्ध तरीक़े से बताता है। यह आपको बताता है कि मैसिज भेजा जा रहा है या भेज दिया गया है या प्राप्तकर्ता को मिल गया है या प्राप्तकर्ता ने पढ़ लिया है। यह जानकारी आपको सम्प्रेषण में बहुत काम आती है और संदेश प्राप्तकर्ता को जवाब देने में या उससे प्रश्न करने में सुगमता लाती है। मैसिज से सम्बंधित कुछ चिह्न हैं जिनसे इस सारी जानकारी को आसानी से समझा जा सकता है। आइए हम इनके बारे में जानते हैं और इन्हें प्रबंधित करना सीखते हैं।


मैसिज भेजने से दूसरे यूज़र को प्राप्त होने तक चार चरण हैं -

1. घड़ी का निशान - मैसिज भेजने का प्रयास किया जा रहा है
2. एक चेक मार्क - मैसिज भेज दिया गया
3. दो चेक मार्क्स - मैसिज रिसीवर या दूसरे यूज़र को मिल गया
4. दो नीले चेक मार्क्स - रिसीवर या दूसरे यूज़र ने मैसिज पढ़ लिया है

इन चेक मार्क्स को स्क्रीन में स्पष्ट किया गया है -

WhatsApp check marks

WhatsApp - Turn off read receipts or blue ticks

बहुत से यूज़र्स यह बात प्राइवेट रखना चाहते हैं कि वह कब किसके संदेश पढ़ रहे हैं। ताकि लोगों के प्रश्न या अन्य बातों पर अपनी प्रतिक्रिया देने में लगने वाले समय अंतराल को छुपा सकें। सरल शब्दों में कहें तो संदेश पढ़कर अपने मनमर्ज़ी से जब चाहे तब जवाब दें। अगले व्यक्ति को यह नहीं लगता है कि संदेश पढ़कर भी किसी ने उसे जवाब क्यों नहीं दिया।

आइए इन दो ब्लू टिक्स या चेक मार्क्स या रीड रीसीट्स (Blue ticks or check marks or read receipts) को बंद करने पर चर्चा करें। इस फ़ीचर को प्रयोग करने के लिए आपको व्हाट्‌सएप का सबसे नया संस्करण प्रयोग करना चाहिए। अभी यह फ़ीचर एंड्रॉयड यूज़र्स के लिए ही है। आने वाले समय में अन्य डिवाइसेज़ के लिए भी उपलब्ध करा दिया जायेगा।

1. व्हाट्‌सएप की सेटिंग्स (Settings) में जायें
2. अकाउंट (Account) पर क्लिक कीजिए
3. प्राइवेसी (Privacy) पर क्लिक कीजिए
4.रीड रीसीट्स (Read receipts) पर को अनचेक कर दीजिए

इस प्रक्रिया को अच्छे से समझने के लिए हमने स्क्रीनशॉट तैयार किया है।


इसप्रकार आप व्हाट्सएप के दो ब्लू टिक्स या चेक मार्क्स को बंद करने में सफल हो जायेंगे। ध्यान रखने की बात यह है कि यदि आप इस फ़ीचर को बंद कर देंगे तो आप स्वयं भी नहीं जान सकेंगे कि किसने आपका भेजा मैसिज पढ़ लिया है अथवा नहीं। इसलिए इस फ़ीचर को बंद करने से पहले अच्छे से विचार कर लें।

पोस्ट पसंद आने पर सोशल मीडिया पर अवश्य शेअर करें।
Share on Google Plus

About Naresh Sahu

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.
    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment

Blog Archive

Ads